जन आकांक्षा सर्वोपरि

423


रिपोर्ट मो. नौशाद आलम

बिहार के चैनपुर विधानसभा क्षेत्र से बीएसपी के विधायक मो. ज़मा ़खान का जेडीयू में आस्था, जनहित में अपने विधानसभा क्षेत्र एवं बिहार वासियों के जन आकांक्षाओं को पूरा करने हेतु दिखाई है। यह इसलिए भी सही ़कदम कहा जा सकता है कि जब कोई सार्वजनिक जीवन में जनता के बीच रहता है तो जनता की विभिन्न समस्याओं को हल करने की चुनौती एक जनप्रतिनिधि को उठानी पड़ती है।

जेडीयू के साथ ज़मा ़खान का आना इनके सामाजिक कार्य करने की सकारात्मक इच्छा शक्ति को दर्शाता है। जेडीयू नेतृत्व वाली नई सरकार में सात निश्चय कार्यक्रम  पार्ट-2 के तहत युवाशक्ति से लेकर खेतों में पानी पहुंचाने तक का वादा है। ज़ाहिर है कि विधायक ज़मा ़खान युवा भी हैं और किसान परिवार से भी ताल्लु़क रखते हैं। इसलिए युवाओं और किसानों के लिए काम करने के उत्सुक भी होंगे। विधायक ज़मा ़खान के जेडीयू में शामिल होने से उम्मीद की जा रही है कि पार्टी और भी मज़बूत होगी।

बिहार की जन-समस्याओं को दूर करने के लिए नीतीश सरकार सात निश्चय कार्यक्रम पार्ट-1 में दृढ़-संकल्पित थी। जैसे-

-आरक्षित रोज़गार महिलाओं को अधिकार

-हर घर बिजली

-हर घर नल का जल

-घर तक पक्की गली-नालियां

-शौचालय निर्माण, घर का सम्मान

-आर्थिक हल युवाओं को बल

-अवसर बढ़़े आगे बढ़े आदि निश्चय पर समाज के हर तब़के के लिए सराहनीय कार्य हुए हैं।

ज़ाहिर है ज़मा ़खान ने नीतीश सरकार की कार्य-प्रणाली से प्रेरित होकर ही जेडीयू में शामिल होकर नीतीश का दामन थामने का निर्णय लिया होगा। भविष्य में यदि कोई भी ज़िम्मेदारी जेडीयू की तऱफ से ज़मा ़खान को मिलती है तो दृढ़-संकल्पित होकर जन आकांक्षाओं पर खरा उतरने की आवश्यकता है।

युवा बिहार में युवा की भागीदारी अहम है। इसलिए जेडीयू को भी इस युवा विधायक पर भरोसा कर मंत्रिमंडल विस्तार कर मंत्री परिषद में शामिल कर बिहार वासियों के लिए बेहतर कार्य करने का एक मौ़का देने की आवश्यकता है। सात निश्चय कार्यक्रम-2 के अंतर्गत बड़े वादों को पूरे करने की ज़िम्मेवारी मौजूदा सरकार को निभानी है। और इस ज़िम्मेदारी को सही तरी़के से पूरा करने के लिए मंत्रिमंडल विस्तार करने की आवश्यकता है। जिससे कि बिहार की जन आकांक्षाओं  पर खरा उतरने की चुनौती को निभाया जा सके।