आज ऐसी शिक्षा की जरूरत जिससे समाज और देश लाभांवित हो सके: फ़खरे आलम हसन

655

www.doosrasmat.com

पूरे देश में गणतंत्र दिवस धूमधाम से मनाया गया। इसी कड़ी में भागलपुर में मौजूद मुस्लिम माइनोरिटी डिग्री कॉलेज में भी गणतंत्र दिवस की धूम देखी गई। कॉलेज के छात्र-छात्राओं ने इस मौक़े पर अपने परेड का नज़ारा पेश किया और मुख्य अतिथि को सलामी दी। 72वें गणतंत्र दिवस के मौक़े पर मुस्लिम माइनोरिटी डिग्री कॉलेज के प्रांगण में झंडोत्तोलन किया गया। इस बार इस कॉलेज के गणतंत्र दिवस के मुख्य अतिथि सैयद शाह फखरे आलम हसन थे। इस मौक़े पर इस्लामी युवा स्कॉलर एवं पीर- ए-दमड़िया के नायब सज्जादानशीं ने झंडोत्तोलन किया, परेड की सलामी ली। इस मौक़े पर अपने उदगार व्यक्त करते हुए उन्होंने शिक्षा पर ज़ोर दिया। उन्होंने ‘इक़रा’ के ज़रिए मुसलमानों को शिक्षा की अहमियत से रूबरू कराया। उन्होंने कॉलेज के परफारमेंस की भी जमकर तारीफ़ की। उन्होंने अपने संबोधन के बीच शहरविसयों से आगे बढ़कर इस कॉलेज को सहयोग देने का आह्वाण किया। और कॉलेज को भरोसा दिलाया कि उनसे भी जो संभव होगा वह इस कॉलेज के उत्थान और वैभव के लिए करेंगे।

उन्होंने आगे कहा कि शिक्षा ही एक मात्र ऐसा रास्ता है जिसकी बुनियाद पर हम समाज और देश के लिए बहुत कुछ कर सकते हैं। उन्होंने कहा कि आज ऐसी शिक्षा की जरूरत है, जिससे समाज और देश लाभांवित हो सके।

72वें गणतंत्र दिवस के मौक़े पर मुस्लिम एजुकेशन कमिटी, भागलपुर के सचिव बद्री ख़ान ने भी गणतंत्र के प्रति अपनी भावनाएं प्रकट करते हुए कॉलेज के दायित्वों पर भी प्रकाश डाला।

इस मौक़े पर मुस्लिम एजुकेशन कमिटी, भागलपुर के अध्यक्ष इंजीनियर इस्लाम ने अपने देशभक्ति जज़्बात को उभारते हुए कॉलेज के प्रयासों से मौजूद लोगों को रूबरू कराया और कॉलेज के दिन-प्रतिदिन की उल्लेखनीय सफलता का गर्वित स्वर में ज़िक़्र किया।