901

 

एक नज़र में पुरस्कार

स्पेशल मेंशन पुरस्कार-  ‘बिरियानी’, ‘जोना की पोरबा’ (आसमिया), ‘लता भगवान करे’ (मराठी), ‘पिकासो’ (मराठी) को मिला है।

सिनेमा पर सर्वश्रेष्ठ पुस्तक का पुरस्कार ‘ए गांधीयन अफेयर: इंडियाज क्यूरिस पोट्र्रेयल ऑफ लव इन सिनेमा’ को मिला है।

सिक्किम को ‘सर्वाधिक फिल्म अनुकूल राज्य    पुरस्कार’ मिला है।

नॉन फीचर फिल्म कैटेगिरी में सर्वश्रेष्ठ फिल्म का पुरस्कार हिंदी भाषा की फिल्म ‘एन इंजीनियर्ड ड्रीम’ को मिला है।

बेस्ट फीचर फिल्म

बेस्टर मेल प्लेबैक सिंगर – केसरी – तेरी मिट्टी – बी पराक

बेस्ट सपोर्टिंग एक्ट्रेस – पल्लवी जोशी

बेस्ट स्क्रीन प्ले (डॉयलॉग राइटर) – विवेक रंजन अग्निहोत्री, ताशकंद फाइल फिल्म के लिए

 

67वें राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कारों की घोषणा हुई जिसमें ‘छिछोरे’ फिल्म ने अपनी छाप छोड़ी। सर्वश्रेष्ठ फिल्म का उसे खिताब मिला है। 2019 के पुरस्कार का ऐलान अब हुआ है। दरअसल कोरोना वायरस का शिकार पुरस्कार भी हुआ। इसी वजह से इसकी घोषणा देर से हुई।

मालूम हो कि इस साल 461 फीचर फिल्मों को राष्ट्रीय पुरस्कारों के लिए रखा गया था। जिसमें सुशांत सिंह राजपूत की फिल्म ‘छिछोरे’ को सर्वश्रेष्ठ फिल्म का पुरस्कार दिया गया है। गौरतलब है कि ‘छिछोरे’ फिल्म में सुशांत सिंह राजपूत के साथ-साथ श्रद्धा कपूर, वरुण शर्मा, प्रतीक बब्बर, ताहिर राज अहम  किरदार हैं। इस फिल्म के निर्देशक नितेश तिवारी हैं।

 

घोषणा के मुताबिक कंगना रणौत को बेस्ट एक्ट्रेस के खिताब से नवाजा गया है। कंगना को यह पुरस्कार फिल्म पंगा और मणिकर्णिका के लिए मिला है। जानना जरूरी है कि कंगना को चौथी बार नेशनल अवॉर्ड मिला है। इससे पहले उन्हें फैशन, क्वीन, तनु वेड्स मनु रिटन्र्स के लिए भी अवार्ड मिल चुके हैं।

फिल्म ‘भोंसले’ के लिए मनोज बाजपेयी को सर्वश्रेष्ठ अभिनेता का ताज मिला है। मालूम हो कि मनोज वाजपेयी को इससे पहले फिल्म ‘पिंजर’ और ‘सत्या’ के लिए उन्हें नेशनल अवॉर्ड मिल चुका है। 67वें राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कारों  में धनुष को भी बेस्ट एक्टर का पुरस्कार मिला है। उन्हें यह पुरस्कार तमिल फिल्म ‘असुरन’ के  लिए दिया गया है।

इसी तरह सपोर्टिंग एक्ट्रेस का अवॉर्ड पल्लवी जोशी को द ताशकंद फाइल्स के लिए मिला है। वहीं सुपरडीलक्स फिल्म के लिए विजय सेतुपति को इसी  अवॉर्ड से नवाजा गया है।

गौरतलब है कि कंगना रणौत को फिल्म मर्णिकर्णिका में उनकी झांसी की रानी वाली भूमिका के मद्देनजर राष्ट्रीय पुरस्कार से सम्मानित किया गया है। उन्हें जन्मदिन से ठीक एक दिन पहले सम्मान का तोहफा मिला है। वैसे कंगना इससे पहले भी राष्ट्रीय सम्मान पा चुकी हैं।

पंगा

कंगना को फिल्म ‘पंगा’ के लिए भी राष्ट्रीय पुरस्कार मिल चुका है। इस फिल्म में कंगना कबड्डी की राष्ट्रीय खिलाड़ी की भूमिका में थीं।

तनु वेड्स मनु रिटन्र्स

आनंद एल राय की फिल्म ‘तनु वेड्स मनु’ के लिए उन्हें साल 2015 में राष्ट्रीय पुरस्कार से सम्मानित किया गया था।

क्वीन

फिल्म ‘क्वीन’ में कंगना ने एक ऐसी लड़की का किरदार निभाया था, जो शादी टूट जाने के बाद अपने हनीमून पर अकेले जाती है। इस फिल्म में राजकुमार राव ने भी अहम भूमिका निभाई थी। इस फिल्म के लिए कंगना रणौत को 2014 में राष्ट्रीय पुरस्कार से नवाजा गया था। इस कामयाबी के बाद से तो उन्हें बॉलीवुड की ‘क्वीन’ कहा जाने लगा।

फैशन

2008 में ‘फैशन’ के लिए कंगना को राष्ट्रीय    पुरस्कार से सम्मानित किया गया था। इस फिल्म में  एक मॉडल के किरदार में थीं।

इसके अलावा कंगना को फिल्मफेयर और आईफा जैसे अवॉड्र्स भी मिल चुके हैं। ़गौरतलब है कि कंगना की अब तक कोई भी फिल्म तीन खानों के साथ नहीं आ चुकी है। यानी अबतक उन्होंने शाहरुख खान, सलमान खान और आमिर खान के साथ एक भी फिल्म नहीं की हंै। कंगना का फोकस महिला केंद्र्रित फिल्में हैं। अब आने वाले दिनों में कंगना ‘धाकड़’ और ‘थलाइवी’ में भी नजर आएंगी।

दूसरा मत