बेगूसराय स्टेशन परिसर में दैनिक रेल यात्री संघ ने दिया धरना

215

पत्रकारों पर लगी पाबंदी सहित कई समस्याओं को लेकर जताई नाराज़गी

दैनिक रेल यात्री संघ, बेगूसराय ने बेगूसराय रेलवे स्टेशन के विकास, वैभव और संसाधनों व सुविधाओं से परिपूर्ण करने की मांग को लेकर 17 जनवरी, 2021 को धरना देकर अपनी कई सूत्रीय मांगों को मज़बूती के साथ रखा। धरना का आयोजन संघ के अध्यक्ष विष्णुदेव सिंह की अध्यक्षता में हुई। इस मौके़ पर दैनिक रेल यात्री संघ के महासचिव राजीव कुमार ने कहा कि लोकतंत्र के चौथे स्तंभ कहलाने वाले पत्रकारों को रेलवे स्टेशन के अंदर प्रवेश करने से मना किया जाना दुर्भाग्य है। उन्होंने कहा कि हमारी पहली मांग है कि पत्रकारों को समाचार संकलन के लिए रेलवे स्टेशन पर आने की पाबंदी हटाई जाए। उन्होंने 18 जोड़ी ट्रेनों का ठहराव, बाघा ओवरब्रिज का पुनर्निर्माण, लोहिया नगर बाघा गुमती पर अंडरपास, प्लेटफार्म नंबर चार यानी उतरी भाग में टिकट घर, वेटिंग रूम, लिफ्ट एस्केलेटर, पर्याप्त आरक्षण कोटा जैसी कई मांगों को रखा।

इस मौक़े पर अपने संबोधन में पूर्व महापौर आलोक कुमार अग्रवाल ने रेलवे के लोहिया नगर ऊपरी पुल के निर्माण पर सवालिया निशान खड़ा करते हुए कहा कि आख़िर इतनी जल्दी इसमें दरार कैसे आई? उन्होंने रेलवे महकमा को सचेत करते हुए कहा कि अगर वक़्त रहते इसकी मरम्मत नहीं कराई गई तो कोलकाता जैसा हादसे का शिकार बेगूसराय हो सकता है। इस मौके पर उन्होंने यात्री सुविधाओं से संबंधित कई दूसरी मांगों को भी उठाया और उसे पूरा करने की रेलवे प्रशासन से मांग की।

इस धरने को कई वक्ताओं ने संबोधित किया और एक स्वर में कहा कि बेगूसराय रेलवे स्टेशन को ए ग्रेट का दर्जा मिलना चाहिए। स्टेशन पर प्लेटफार्म नंबर तीन एवं चार का निर्माण होना चाहिए। बेगूसराय-मुंगेर के बीच गंगा नदी पर बने डॉ. श्रीकृष्ण सिंह सेतु होकर मुंगेर, भागलपुर एवं हावड़ा के लिए पर्याप्त ट्रेन का परिचालन शुरू होना चाहिए। बेगूसराय स्टेशन पर सभी महत्वपूर्ण एक्सप्रेस एवं सुपरफास्ट ट्रेनों का ठहराव होना चाहिए। दिल्ली, मुंबई, चेन्नई, बैंगलोर और पुणे जैसे महत्वपूर्ण शहरों के लिए नियमित और सुपरफास्ट रेल सेवा बहाल होनी चाहिए। बाघा बायपास ओवरब्रिज का पुनर्निर्माण किया जाना चाहिए। इसी के साथ लोहिया नगर एवं बाघा गुमटी पर अंडरपास बनाना चाहिए। इस धरने को संबोधित करने वालों में मेयर उपेंद्र प्रसाद सिंह, डॉ. रंजन सिंह,डॉ. राहुल कुमार,  जेडीयू नेता पंकज सिंह, कांग्रेस नेता रत्नेश कुमार टुल्लू, , राजेश श्रीवास्तव, राजनारायण राय, मुकेश विक्रम, महेश भारती, शिक्षक नितेश रंजन, यात्री संघ के अध्यक्ष विष्णुदेव सिंह, पूर्व महापौर आलोक अग्रवाल, शिक्षक नेता अमरेंद्र्र कुमार सिंह, माले नेता राजेश श्रीवास्तव, भाजयुमो नेता मनीष भारद्वाज आदि शामिल थे।