लोकतंत्र, न्यायपालिका और राहुल की जीत: अमिता भूषण

221

राहुल गांधी की संसद से अयोग्यता मामले में सुप्रीम कोर्ट से राहुल गांधी की ऐतिहासिक जीत और सदस्य्ता पुनः बहाल किए जाने से जिले में कांग्रेस क़े नेताओं और कार्यकर्ताओं में उत्साह है। जीत की खुशी में कार्यकर्ताओ ने सुप्रीम कोर्ट को बधाई और राहुल गांधी को शुभकामनाएं दी हैं।

नगर पूर्व विधायक श्रीमती अमिता भूषण ने इस फ़ैसले को लोकतंत्र, न्यायपालिका और राहुल गांधी क़े सच क़े जिद की जीत क़रार दिया। अमिता भूषण ने कहा कि पूरा घटनाक्रम सत्ता प्रायोजित थ्रीलर कहानी सरीखा गढा गया था। स्क्रिप्ट लिखने बाले ने इतनी घिसी पीटी कहानी का इस्तेमाल कर राहुल गांधी सरीखे सत्यनिष्ठ कर्मयोगी को संसद से बाहर करने की साजिश रची। ताकि जनता क़े बीच उनकी पोल पटी न खुल जाए। दो चरण की अदालती कार्रवाई से लोगों का भरोसा लोकतंत्र क़े साथ साथ न्यायपालिका पर भी डगमगाने लगा था। पर माननीय सुप्रीम कोर्ट ने अपने फैसले से न सिर्फ लोकतंत्र की लाज रखी, बल्कि साजिश क़े सरगनाओं को करारा तमाचा भी लगाया।

उन्होंने कहा कि हमें खुशी है कि राहुल गांधी क़े रूप में जनता की आवाज़ फिर से उसी अंदाज में सदन में गूंजेगी, जिस अंदाज ने वर्तमान सत्ता की नींद उड़ा रखी है।

बेगूसराय से एस आर आज़मी की रिपोर्ट